श्रीसत्यनारायणव्रत कथा पांचवा अध्याय

श्रीसूत जी बोले श्रेष्ठ मुनियों! अब इसके बाद मैं दूसरी कथा कहूंगा, आप लोग सुनें। अपनी…

श्रीसत्यनारायणव्रत कथा चौथा अध्याय

श्रीसूत जी बोले साधु बनिया मंगलाचरण कर और ब्राह्मणों को धन देकर अपने नगर के लिए…

श्रीसत्यनारायणव्रत कथा तीसरा अध्याय

श्री सूतजी बोले श्रेष्ठ मुनियों! अब मैं पुनः आगे की कथा कहूंगा, आप लोग सुनें। प्राचीन…

श्रीसत्यनारायणव्रत कथा दूसरा अध्याय

श्रीसूतजी बोले हे द्विजों! अब मैं पुनः पूर्वकाल में जिसने इस सत्यनारायण व्रत को किया था,…

श्रीसत्यनारायणव्रत कथा पहला अध्याय

श्री व्यास जी ने कहा एक समय नैमिषारण्य तीर्थ में शौनक आदि सभी ऋषियों तथा मुनियों…

आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी

आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को ही देवशयनी (HariShyani) एकादशी कहा जाता है। कहीं-कहीं…

Nirjala Ekadashi vrata katha

भीमसेन व्यासजी से कहने लगे कि हे पितामह! भ्राता युधिष्ठिर, माता कुंती, द्रोपदी, अर्जुन, नकुल और…

Follow by Email
Instagram